Header Ads

सरकार द्वारा इंटरनेट कैसे बंद किया जाता है?

भारत के कई राज्यों जैसे जम्मू कश्मीर, असम और उत्तर प्रदेश में सरकार द्वारा internet सेवा बंद किया गया। सरकार इंटरनेट को बंद क्यों करती है? सरकार द्वारा इंटरनेट कैसे बंद किया जाता है? (How to shutdown internet by government)। भारत में Internet ban in India  क्यों किया जाता है। इन सभी को जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।
जब internet ban किया जाता है तो नेट से चलने वाली सभी सेवाएं जैसे व्हाट्सप्प, फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब या किसी भी तरह का ऑनलाइन मैसेज नहीं भेज सकते है जिससे गलत कंटेंट लोगो तक न पहुंच सके। सिर्फ कॉल और SMS कर सकते है।
भारत में इंटरनेट ज्यादातर Mobile में इस्तेमाल इस्तेमाल किया जाता है. जब भी किसी तरह का दंगा या शांति भंग किया जाता है तो सरकार ज्यादातर mobile data services को ही Shutdowns  करवाती है।
gov-Internet-kaise-shutdowns-kiya jata-hai

सरल शब्दों में कहे की इंटरनेट क्या है तो  यह बहुत सारे नेटवर्क से मिलकर बना है, इंटरनेट पर सभी कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े होते है यह पूरी दुनिया के कंप्यूटर को जोड़ता है जो दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है। इंटरनेट पर जो भी काम आप करते सब कुछ ऑनलाइन होता है, इस पोस्ट को आप पढ़ रहे है अर्थात आप इंटरनेट पर है।

आज इंटरनेट हमारे जीवन के लिए बहुत ही उपयोगी हो चूका है, बिना इसके इस्तेमाल के सबकुछ अधूरा-अधूरा लगता है  अपने सोचा है की अगर एक दिन  इंटरनेट कनेक्टिविटी बंद हो गया तो क्या होगा?  हमारी economy पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा पूरा बैंकिंग सिस्टम बंद होजायेगा किसी भी तरह का online money transaction नहीं पायेगा, हम किसी को ऑनलाइन मैसेज, फोटो, ऑडियो, वीडियो नहीं भेज सकते। बहुत लोगो का व्यापार जो online होता है वह रुक जायेगा। सभी सरकारी संस्थान, कंपनियां जिसके सभी काम इंटरनेट पर हो रहा है सब रुक जायेगा। जितने भी डिजिटल काम होरहे है सब कुछ बंद हो जाएगा। इंटरनेट के बंद होने पर बहुत बड़ा नुक्सान होगा।
पूरी दुनिया में इंटरनेट बंद करना असंभव है लेकिन किसी देश, राज्य या शहर में Internet को बंद किया जा सकता है। अगर वहां की सरकार को कोई किसी कारण से इसे कुछ दिन या कुछ घंटो के लिए internet connectivity को Ban कर सकती है।

सरकार द्वारा इंटरनेट बंद क्यों किया जाता हैं (Why is the government shutdown Internet)

जब लोगो द्वारा किसी जगह पर दंगे हो जाते है या भीड़ ने बहुत ज्यादा हिंसा फैला रखी है तो उस पुरे एरिया में इंटरनेट सेवा बंद कर दी जाती है क्योकि इंटरनेट के माध्यम से ही वाहट्सएप्प, फेसबुक, twitter, YouTube तथा अन्य ऑनलाइन साइट पर Fake News फैलाया जाता है। लोगो को भड़काने के लिए हर तरह से फेक मैसेज, वीडियो क्लिप send और share किये जाते है इस तरह से गलत न्यूज़ सभी लोगो के पास पहुंच जाता है लोग इसे सच मान लेते है  जिससे लोगो का माइंड गलत दिशा में जाने लगता है और बिना सच्चाई को जाने किसी भी मुद्दे को लेकर उग्र हो जाते है, अफवाहे फैलनी सुरु हो जाती है। इसलिए देश की सरकार को लगता है की अगर internet को पूरी तरह से stop कर दिया जाये तो दंगे होना रुक जायेगा। इससे आपस में एक दूसरे को फेक न्यूज़ शेयर नहीं कर पाएंगे।
जम्मू कश्मीर में पिछले कई महीनो से वहां पर Internet को बंद कर दिया गया है। अभी हाल ही में Citizenship Amendment Bill और NRC के मुद्दे को लेकर असम, दिल्ली तथा भारत के कई शहरों में तोड़फोड़, आगजली किया जा रहा है। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में उग्र विरोध प्रदर्शन और अस्थिरता के चलते इंटरनेट कनेक्टिविटी सेवाएं को shutdown अर्थात ban कर दिया गया है  कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया जाता है। जब सब कुछ ठीक तरीके से चलने लगता है तो गवर्नमेंट फिर से net connectivity को चालू कर देती है।
अब आप सोच रहे होंगे की Government के पास इंटरनेट को बंद करने के लिए स्विच होता होगा और जैसे ही स्विच ऑफ किया जाता है इंटरनेट बंद हो जाता है तो आप गलत सोच रहे है, ऐसा कुछ भी नहीं है।

सरकार द्वारा इंटरनेट कैसे बंद किया जाता है (How to shut down internet by government)

इंटरनेट को बंद करने के लिए सरकार internet service provider (ISP) से सम्पर्क करती है। ISP वे कम्पनिया (जैसे-BSNL, MTNL, AIRTEL, RALIANCE, JIO) होती है जो ऑनलाइन सर्विस देती है इन्ही कंपनी द्वारा भारत में इंटरनेट सर्विस प्रदान किया जाता है। भारत सरकार या राज्य सरकार के कहने पर इन Indian ISP कंपनी द्वारा सभी डिवाइस से INTERNET CONNECTIVITY CLOSE कर दिया जाता है।
इसके लिए 2017 में एक नियम आया The Temporary Suspension of Telecom Services (Public Emergency or Public Safety) Rules. इंटरनेट बंद को लेकर इसी कानून का सहारा लिया जाता है। इससे पहले धारा 144 लगा कर इंटरनेट बंद किया जाता है। सार्वजिक स्थानों पर शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए इस इस कानून को अपनाया जाता है। यदि किसी वेबसाइट पर अवांछित काम जैसे PO*RN video, illegal work हो रहे है तो सरकार द्वारा ISP कंपनिया उस वेबसाइट के IP Address को बंद कर सकती है अर्थात वहां के लिए ये वेबसाइट किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल में ओपन नहीं होगा।
India में Internet shutdowns के मामले में जम्मू कश्मीर सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका है। पुरे विश्व में Internet shutdowns में भारत नंबर वन पर हो गया है एक रिपोर्ट के अनुसार अब तक भारत सरकार द्वारा 16 हजार घंटो तक इंटरनेट बंद रहा।
एक रिपोर्ट के अनुसार 2018 में पूरी दुनिया के 25 countries में 196 बार internet shutdowns किया गया इसमें भारत देश में सबसे ज्यादा किया गया। इससे पता चल रहा है India में इंटरनेट सबसे ज्यादा shutdowns किया गया।